Posts

पुलवामा हमला: जिनकी शहादत से गुस्से में है देश, सरकारी रिकॉर्ड में नहीं कहलाएंगे 'शहीद'

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों ने कायराना हरकत को अंजाम दिया है. आतंकियों ने सुरक्षा बलों के काफिले को निशाना बनाते हुए बड़ा हमला किया. हमले में CRPF के 37 जवान शहीद हो गए,जबकि कई जवान घायल हैं. इस हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली है. जिस आतंकी ने इस हमले को अंजाम दिया उसका नाम आदिल अहमद डार है. वो पुलवामा जिले के काकपोरा का ही रहने वाला है. बताया जा रहा है कि आदिल पिछले साल फरवरी में मोस्ट वांटेड आतंकी जाकिर मूसा के गजवत उल हिंद में शामिल हुआ था और कुछ ही महीने पहले ही वह जैश में शामिल हुआ था.



देश जहां 37 जवानों के मारे जाने पर आंसू बहा रहा है, वहीं इस पर राजनीति पर अपने चरम है. विपक्ष जमकर मोदी सरकार पर हमला बोल रहा है और सरकार दावा कर रही है कि इस हमले का मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा. खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कह चुके हैं कि जवानों की शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी. जवानों के शहीद होने पर नेता राजनीति करते रहें, लेकिन सच तो यह है कि किसी ने भी अब तक जवानों के लिए कोई कदम नहीं उठाया. यहां हम इस मुद्दे को इस वजह से उठा रहे हैं क्योंकि इस हमले में जो जवान मारे गए हैं…

How to make your content more accessible to the visually impaired

How are your YouTube campaigns performing on TV screens?

Search Engine Land was mistakenly removed from the Google Index

SEO for the Holidays: 2019 Edition

SEO for holiday shoppers